तेलंगाना चुनाव के लिए BJP को मिले यह ‘योगी’

0 1,776

हैदराबाद । उत्‍तर भारत में विपक्षी दलों से मिल रही कड़ी चुनौती के बीच बीजेपी की नजर अब दक्षिण भारत पर है। कर्नाटक विधानसभा चुनाव में शानदार प्रदर्शन करने के बाद अब बीजेपी तेलंगाना में कमल खिलाने के लिए बेताब है। तेलंगाना के किले को फतह करने के लिए पार्टी हिंदुओं को एकजुट करने पर जोर दे रही है। यही नहीं, तेलंगाना में बीजेपी और अन्‍य हिंदूवादी संगठनों को योगी आदित्‍यनाथ जैसा एक ‘भगवाधारी’ लीडर भी मिल गया है।

बीजेपी की नजर परिपूर्णानंद स्‍वामी पर है जिनकी आदिवासियों पर अच्‍छी पकड़ मानी जाती है। बीजेपी के अंदर चर्चा चल रही है कि परिपूर्णानंद स्‍वामी को लोकसभा चुनाव या हैदराबाद की किसी सीट से विधानसभा चुनाव लड़ाया जाए। माना जा रहा है कि पार्टी उन्‍हें सिंकदराबाद या मलकानगिरी लोकसभा सीट या फिर कारवान या चंद्रयानगुट्टा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा सकती है।

परिपूर्णानंद की मोहन भागवत से मुलाकात
बीजेपी और अन्‍य हिंदूवादी दलों की कोशिश है कि परिपूर्णानंद स्‍वामी के जरिए हिंदू वोटों को अपने पाले में लाया जाय। बीजेपी के एमएलए एनवीएसएस प्रभाकर उनके स्‍वागत के लिए मंगलवार को विजयवाड़ा पहुंच गए हैं। प्रभाकर ने कहा, ‘मैंने पहले ही विधानसभा के अंदर कहा है कि तेलंगाना को योगी आदित्‍यनाथ जैसे लीडर की जरूरत है। यह समय बताएगा कि स्‍वामी परिपूर्णानंद कब राजनीति में आएंगे। यह फैसला उच्‍चतम स्‍तर पर लिया जाएगा।’

एक सूत्र ने बताया कि 10 दिन पहले स्‍वामी परिपूर्णानंद ने बेंगलुरु में आरएसएस चीफ मोहन भागवत से मुलाकात की थी। इसके अलावा आरएसएस की हाल ही में हुई समन्‍वय बैठक में इस बात का फैसला लिया गया था कि दक्षिण भारत में उन नेताओं को आगे बढ़ाया जाए जो स्‍थानीय भाषा बोल सकते हैं।

स्थानीय लोगों में बेहद लोकप्रिय
उधर, विश्‍व हिंदू परिषद के राज्‍य अध्‍यक्ष एम रामा राजू ने कहा, ‘स्‍वामी को खारिज कर केसीआर सरकार उसी तरह से बर्ताव कर रही है जैसे निजाम सरकार ने किया था। यहां तक कि निजाम सरकार ने भी हिंदुओं के खिलाफ इस तरह का कठोर कदम नहीं उठाया था जबकि केसीआर अपनी पूरी शक्ति का इस्‍तेमाल इस काम में कर रहे हैं। पुलिस ने जानबूझकर स्‍वामी को निष्‍कासित कर दिया। बाद में इसको लेकर हाई कोर्ट से सरकार को फटकार लगी।’

उन्‍होंने बताया कि मंगवार को स्‍वामी परिपूर्णानंद हैदराबाद पहुंच रहे हैं और उनका शानदार स्‍वागत किया जाएगा। राजू ने बताया कि स्‍वामी नागलक्ष्‍मी मंदिर में पूजा करेंगे। इसके बाद वह भीमराव आंबेडकर की मूर्ति पर माल्‍यार्पण भी करेंगे। बीजेपी एमएलसी एन राचंदर राव ने बताया कि स्‍वामी परिपूर्णानंद आदिवासियों में काफी लोकप्रिय हैं। हिंदू उनका सम्‍मान करते हैं।

उन्‍होंने स्‍वामी के राजनीति में आने को अटकल करार दिया और कहा कि इस बारे में अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है। हालांकि गत जुलाई महीने में बीजेपी के राज्‍य अध्‍यक्ष के लक्ष्‍मण ने स्‍वामी के चुनाव लड़ने की संभावना को खारिज नहीं किया था। उधर, स्‍वामी परिपूर्णानंद ने इस बारे में अभी कोई टिप्‍पणी नहीं की है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.